बिलासपुर जिले में जमकर शराब की आन लाईन बिक्री ,और जमकर कीमत से हो रही वसूली

सेल्स मेन और आबकारी विभाग के अधिकृत लोगो का कारनामा

  • प्रवीण सोनी बिलासपुर = बिलासपुर जिले में सरकारी शराब की आन लाईन बिक्ररी जमकर हो रही है शहर के हर चौक चौराहों पर आप शराब की बोतले और पेटियां आराम से देख सकते है । इस धंधे के पीछे का सच ये है की सेल मेन ऑन लाइन में मिली शराब के दाम के साथ साथ अधिकारियों का भी टैक्स जोड़कर आम जानत से वसूली कर रहे है । मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर जिले में शराब की  बीकरी 1 महीने से बंद थी  पीने वालों को आबकारी विभाग और और शराब माफिया काफी महंगे दाम पर शराब उपलब्ध करा रहे थे वहीं कुछ लोगों ने  spirit or अन्य जहरीली वस्तुओं का सेवन कर अपने प्राण भी खो दिए।

ऐसे में  शासन ने निर्णय लेते हुए शराब की ऑनलाइन बिक्री शुरू कर दी ऑनलाइन बिक्री के शुरू होते ही सेल्स मेन और आबकारी विभाग के अधिकारियों ने इस ऑनलाइन बिक्री में खेल करना शुरू कर दिया ।तय कीमत के साथ सेल्समैन और   अधिकारियों ने अपना टैक्स जोड़कर शराब की कीमतों को बढ़ाकर बेचना शुरू किया ।। शराब के शौकीन लोग तय कीमत से भी ज्यादा पैसे देकर शराब खरीदते रहे।  और इन सेल्स मैन और आबकारी अधिकारियों की जेब गर्म होती रही। इस बात की जानकारी जब हमारे चैनल को हुई तो हमने प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा से इस बारे में जानना चाहा ।तो उन्होंने तय कीमत से ज्यादा शराब बेचने वालों पर कड़ी कार्यवाही करने की बात कही।

मगर जब हमने जिले की c s p d c l  ki जिम्मेदार अधिकारी नीतू नथनी से बात करने के लिए फोन लगाया तो  उन्होंने अपना  फोन  नॉट रिचेबल कर दिया था अब ऐसे में इस बात की कोई आवश्यकता नहीं होगी कि जिले के बड़े अधिकारी जब अपना फोन बंद कर  अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को मौन स्वीकृति दे रहे हो ताकि वह खुला खेल कर सके।

ऑनलाइन होम डिलीवरी के दौरान अतिरिक्त शुल्क वसूली पर बरसे मंत्री कवासी लखमा, कहा-शराब का निर्धारित शुल्क ही ले,,

होम डिलीवरी के… छत्तीस राज्यों से अवैध शराब परिवहन के प्रभावी नियंत्रण के लिए नाके पर कड़ाई से गाड़ियों की जांच करने के निर्देश दिए।  छत्तीसगढ़ के आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने ऑनलाइन होम डिलीवरी के दौरान अतिरिक्त शुल्क वसूली को लेकर अधिकारियों पर बरसे और कहा कि शराब का निर्धारित शुल्क, डिलीवरी चार्ज और जीएसटी के अलावा अतिरिक्त शुल्क ग्राहकों से न लिया जाए। वहीं शराब का आर्डर लेने के समय ऑनलाइन पेंमेंट ही लिया जाए। होम डिलीवरी सेवा व्यवस्थित चले इसके लिए समय बढ़ाने पर जोर दिया। यदि ग्राहक को किसी कारणवश डिलीवरी नहीं दी गई हो तो उसके बैंक खाते में तत्काल राशि वापस करने के निर्देश दिए। ऑनलाइन आर्डर लेते समय शराब की उपलब्धता सुनिश्चित करें ताकि ग्राहकों को कोई परेशानी न हो। ग्राहकों द्वारा उसी दिन की डिलीवरी प्रदान किए जाएं। मंत्री श्री लखमा ने शनिवार को सुकमा जिला मुख्यालय स्थित एनआईसी कक्ष से समस्त जिलों के आबकारी अधिकारियों की वर्चुअल बैठक ली। उन्होंने जिलों में अवैध शराब के परिवहन पर रोकथाम और नियंत्रण के लिए की जा रही कार्यवाही की समीक्षा की। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में शराब की ऑनलाइन डिलीवरी पर चर्चा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने जिलों में अवैध शराब के प्रकरणों की समीक्षा की।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button