कोरबा : ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के नेतृत्व में ग्रामीणों ने अपनी सात सूत्रीय मांगों को लेकर एनटीपीसी प्रबंधन के खिलाफ खोला मोर्चा..विधायक पुरुषोत्तम कंवर और प्रबंधन की वार्ता में बनी सहमति..

गुरबक्श सिंह संधू

Share this News

कोरबा/कटघोरा 16 जुलाई ( cgp news ) : जिले के जमनीपाली दर्री में स्थित एनटीपीसी पावर प्लांट के द्वारा बनाये गए ग्राम धनरास के राखड़ डेम से आसपास के लोगों का जीना मुहाल हो गया है. प्लांट से उड़ने वाले राखड़ से ग्रामवासी के साथ साथ शहरवासी हलाकान हैं. तमाम शिकायतों के बाद भी पर्यावरण विभाग और NTPC प्रबंधन अब तक कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है. ब्लॉक कांग्रेस कमेटी कटघोरा के तत्वधान में आज धनरास स्थित NTPC के राखड़ डेम में बने व्हाइट हाउस में ब्लॉक अध्यक्ष गोरेलाल यादव के नेतृत्व में स्थानीय जनप्रतिनिधि तथा समस्या से ग्रसित ग्राम पंचायत धनरास, छुरीखुर्द, सलिहाभाठा, लोतलोता के ग्रामवासी एनटीपीसी प्रबंधन के खिलाफ अपनी 7 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदर्शन किया. प्रदर्शन के दौरान उन्होंने लंबित पड़े मुआवजे के लिए भी प्रबंधन को आगाह किया.

ग्रामीणों की सात सूत्रीय मांग –

  • ग्राम पंचायत लोतलोता के आश्रित ग्राम लोतलोता, चारपारा, पुरेनाखार को NTPC प्रभावित क्षेत्र शामिल किया जाना.
  • NTPC राखड़ डेम से राखड़ उड़ने आसपास के गाँव प्रभावित हो रहे है प्रबंधन द्वारा क्षतिपूर्ती भत्ता दिया जाय.
  • प्रभावित क्षेत्र होने के कारण ग्राम पंचायत लोतलोता में अन्य प्रभावित क्षेत्र की तरह CSR मद से विकास कार्य किया जाना चाहिए जिसमें जर्जर हो चुके डामरीकृत सड़क का मरम्मत कार्य, सीसी रोड का निर्माण, स्कूल का मरम्मत कार्य, नए स्कूल भवन निर्माण, सामुदायिक भवन निर्माण आदि का कार्य.
  • राखड़ उड़ने से ग्राम पंचायत लोतलोता तथा आस पास के गावों में विभिन्न प्रकार की बीमारियां हो रहीं हैं इसके लिए प्रबंधन द्वारा मेडिकल कैम्प लगाकर स्वास्थ्य सुविधा दिया जाए.
  • धनरास राखड़ डेम को एनटीपीसी द्वारा हमेशा गीला रखा जाय.
  • ग्राम पंचायत लोतलोता के बेरोजगार युवाओं को एनटीपीसी द्वारा रोजगार दिया जाय .
  • एनटीपीसी के द्वारा प्रभावित ग्राम पंचायत लोतलोता के आश्रित ग्रामों में स्थायी पेयजल की सुविधा मुहैया कराई जाए.

ग्रामीणों के समर्थन में पहुंचे विधायक पुरुषोत्तम कंवर

एनटीपीसी के खिलाफ ब्लॉक कांग्रेस कमेटी कटघोरा के द्वारा किये जा रहे लोतलोता ग्राम पंचायत की समस्या को लेकर किये जा सात सूत्रीय मांगों पर प्रदर्शन को लेकर ग्रामीणों का समर्थन देने कटघोरा विधायक पुरुषोत्तम कंवर धनरास व्हाइट हाउस पहुंचे तथा संबंधित विषय पर चर्चा करने यहां पर एनटीपीसी के सक्षम अधिकारी के न पहुंचने पर काफी नाराज हुए. उन्होंने कहा कि एनटीपीसी द्वारा बने राखड़ डेम से प्रभावित ग्राम पंचायत लोतलोता को प्रभावित ग्राम में शामिल करें और यहां वो सभी सुविधाएं मुहैय्या कराए जो धनरास ग्राम पंचायत को मिल रहा है. दिन भर के चले प्रदर्शन के बाद एनटीपीसी प्रबंधन के ED के के समक्ष वार्ता में विधायक पुरुषोत्तम कंवर के साथ स्थानीय ग्रामीण व जनप्रतिनिधि शामिल हुए और लगभग 2 घण्टे की बैठक में प्रबंधन ने ग्राम पंचायत लोतलोता के सात सुत्रित मांगों में एक मांग को छोड़ सभी मांगों पर सहमति बन गई और ग्रामवासी प्रदर्शन को समाप्त किये.

स्थानीय जनप्रतिनिधि धरना प्रदर्शन में रहे नदारद..ग्रामीण दिखे नाराज़.

आज एनटीपीसी के खिलाफ धरना प्रदर्शन में स्थानीय जनप्रतिनिधियों के न पहुंचने से ग्रामीणों में खासी नाराज़गी देखने को मिली. ग्रामीणों का कहना है कि यहां के निर्वाचित जनप्रतिनिधि कटघोरा जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष गोविंद सिंह कंवर जोकि सलिहाभाठा के है और जिला पंचायत अध्यक्ष शिवकला छत्रपाल सिंह कंवर जोकि धनरास के हैं लेकिन इनको ग्रामीणों की समस्या से कोई सरोकार नहीं हैं ये केवल एनटीपीसी में अपने ठेकेदारी को तवज्जो देतें है वे एनटीपीसी के खिलाफ नहीं जा सकतें हैं लोगों में इन लोगों की गैर मौजूदगी से लोग काफी आक्रोशित नज़र आ रहे थे.

एनटीपीसी की मनमानी

एनटीपीसी प्लांट जमनीपाली के प्रबंधन के जिम्मेदारों की मनमानी और अनदेखी के चलते स्थानीय ग्रामीण राखड़ के बीच जिंदगी जीने के लिए मजबूर हैं. बावजूद इसके एनटीपीसी प्रबधंन ग्रामीणों की समस्यायों को लेकर गंभीर नजर नहीं आ रहा है. एनटीपीसी जमनीपाली ने ग्राम धनरास, छुरीखुर्द, सलिहाभाठा, लोतलोता में राखड़ का डैम बनाया है. गर्मी का समय आते ही इस डैम से बड़ी मात्रा में राखड़ उड़ कर आसपास के गांवों तक जाता है.

राखड़ डेम से ग्रामीण सबसे ज्यादा परेशान

ग्रामीणों की मानें तो उनके घरों में राखड़ की मोटी परत चढ़ जाती है. वहीं खाने के सामान पीने के पानी और कपड़ों में डस्ट जमा हो जाती है. राखड़ से आसपास के 10 किलोमीटर तक के गांवों को प्रभावित करता है. राखड़ की मात्रा इतनी ज्यादा रहती है कि रोड पर चलने वाली गाड़ियां तक नहीं दिखती हैं. जिससे दुर्घटना होने का खतरा बना रहता है.

गर्मी में लोगों का हो जाता है बुरा हाल

एनटीपीसी की लापरवाही के कारण ग्रामीणों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. साथ ही इलाके की हवा में जहर घोल कर खुलेआम नियमों की अनदेखी भी की जा रही है. जिसके चलते पर्यावरण को भी भारी नुकसान हो रहा है. लेकिन अब तक पर्यावण विभाग की उदासीनता से इन पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है. फिलहाल एनटीपीसी प्रबंधन इस मामले में कुछ भी बोलने से बचता नजर आ रहा है.

प्रदर्शन के सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस बल रही चाक चौबंद

धनरास एनटीपीसी राखड़ डेम में ग्राम पंचायत लोतलोता के द्वारा किये गए उग्र धरना प्रदर्शन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस की चाक चौबंद व्यवस्था थी. कटघोरा थाना प्रभारी लखन पटेल अपनी टीम के साथ सुबह से ही प्रदर्शन स्थल पर पहुंच चुके थे. दोपहर प्रदर्शन स्थल पर कटघोरा के प्रभारी SDOP रामगोपाल करियारे पहुंचे और यहां की सुरक्षा व्यवस्था को संभाला.

आज के धरना प्रदर्शन के दौरान कटघोरा विधायक पुरुषोत्तम कंवर, कटघोरा प्रभारी SDOP राम गोपाल करियारे, थाना प्रभारी लखन पटेल, कटघोरा ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोरेलाल यादव, स्थानीय जनप्रतिनिधि केशर भारिया, एनटीपीसी के अधिकारी तथा बड़ी संख्या में प्रभावित ग्रामीण जन उपस्थित रहे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button