निगम में टेंडर का खेल शासन को 18 लाख राजस्व का नुकसान

राजनीतिक दबाव और कमीशन के खेल के कारण बिलो रेट में जारी किया टेंडर

प्रवीण सोनी = नगर निगम बिलासपुर में अपने चहेते ठेकेदारों को उपकृत करने और भ्रष्टाचार का चोली दामन का साथ है ताजा मामला जोन क्रमांक 6 का है जहा नाला निर्माण के लिए 1करोड़ 30 लाख  रुपए के टेंडर प्रक्रिया जारी की गई । मगर कोरोना का हवाला देकर टेंडर तय समय पर  नही निकाली गई। फिर गुपचुप तरीके से कुछ ही दिनों में सभी नियमो को ताक पर रखकर पिछले साल के टेंडर के मुकाबले 15/ बिलों में टेंडर जारी कर राज्य सरकार को 18  लाख का नुकसान  पहुंचाया गया। जिस पर सभी अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है

तीन ही टेंडर आए और  वो भी बिलों रेट के इस मामले में जोन कमीशन कुछ  भी नही कहना नही चाहते । पूरा मामला निगम कमिश्नर के पास होना बोलकर मामले से पल्लू झाड़ रहे है। जबकि पूरे मामले में  जोन कमिश्नर की भूमिका संदिध है

बिलासपुर निगम के महापौर राम शरण यादव ने मामले में जानकारी नहीं होने ओर किसी भी गड़बड़ी की बात सामने आने पर   जांच करवाने की बात जरूर कही है मगर इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता की प्रदेश में उन्ही की सरकार होने के बाद राजनेतिक दबाव होने ओर टेंडर में किसी खास को टेंडर देने की जानकारी का ना होना गले से नही उतर रही है । जो गंभीर मामला है

टेंडर का खेल हर विभाग में जारी = अधिकारी नियमो को ताक पर रख कर कर रहे काम= सिर्फ निर्माण कार्य ही नही नगर निगम से  जारी हर निविदा में अपने चहेते और कमीशन खेल चलता है । जहा अधिकारियों को मोटी रकम कमीशन के रूप में मिलता है ।तो कुछ अपनी पीठ थपथपा कर काम करवा लेते है । पिछले साल जारी विज्ञापन विभाग में जारी  निविदा में इस्पस्ट रूप से  लिखे होने के बाद भी शहर में बिजली के खम्बो में  लगे विज्ञापन बोर्ड की बिजली विज्ञापन  कंपनी चोरी करके जला रहा है जो जारी निविदा में विज्ञापन कंपनी को खुद का मीटर लगा कर उपयोग करना था लेकिन विज्ञापन विभाग के प्रभारी विजय पांडे की  मेहरबानी से कई बड़े विज्ञापन कंपनी  चोरी का बिजली जला कर  नगर निगम बिलासपुर और राज्य शासन को राजस्व का नुकसान पहुंचा रही है । ओर कमीशन का पैसा अधिकारी के जेब में डाला जा रहा है ।

इस मामले की परते अभी खुलनी बाकी है  जल्द ही हम इसका पूरा खुलासा करेगे ।और बड़े चेहरों को बेनकाब करेंगे।

 

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button