गर्मी और उमस से बढ़ रहे विषैले जीव जंतु व सर्पदंश के मामले

दुर्गेश मरावी




विकासखंड पाली क्षेत्र में विगत एक सप्ताह से बारिश नहीं होने से उत्पन्न उमस और गर्मी के कारण जहां आम लोग परेशान हैं ,वहीं इन दिनों विषैले सर्प, जीव जंतु निकलने की घटनाएं बढ़ी है ऐसे ही कम से कम एक दर्जन मामले chc पाली में सामने आए हैं। इनमें एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि दर्जनभर इलाज कराकर स्वस्थ हुए हैं।
बरसात के मौसम में विषैले जीव जंतु अपने रहवास में पानी भर जाने आदि के कारण बाहर निकल आते हैं। वैसे भी विगत एक सप्ताह से बारिश नहीं होने के कारण गर्मी और उमस में काफी बढ़ोतरी हुई है जिसके कारण आम आदमी के साथ ही जीव जंतुओं का जीना मुहाल हो गया है नगर पंचायत पाली में ही विगत एक हफ्ते में दो दर्जन से अधिक सांप,बिच्छू अन्य विषैले जीव जन्तु निकलने के मामले सामने आए हैं। जिन्हें स्थानीय सर्पमित्र दिलेश कोसरिया ने पकड़ते हुए सुरक्षित ढंग से जंगल में छोड़ा है। पाली एवं आसपास रहने वालों के द्वारा दिलेश कोसरिया के मोबाइल नंबर 9977218352 में फोन करने पर वह काफी लोगों के घर पहुंच सुरक्षित ढंग से रेस्क्यू कर जंगल में विषैले जीव जन्तु को छोड़ा है। लेकिन सभी किस्मत वाले नहीं होते हैं किसी की सूचना नहीं मिल पाती है तो किसी को जानकारी नहीं हो पाती है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पाली में भी पिछले एक सप्ताह में 1 दर्जन से अधिक विषैले जीव जंतु के दंश से पीड़ित मरीज इलाज के लिए भर्ती कराए गए हैं। वही एक व्यक्ति की सर्प काटने से मौत भी हो गई है। सिल्ली निवासी रामेश्वर पिता द्वार सिंह की सर्पदंश से मौत हो गई है।जबकि शशि प्रभा कपोट , विदेश्वर भंडारखोल , शिवदयाल लिम्हा, हेमन्त नागेश पाली , सोहन पोटापानी, निरसिया बाई सिल्ली, श्याम बाई बकसाही शेमरकछार, बिर्सिया बाई , सरस्वती विश्वकर्मा रैनपुर, मनोज कुमार पटेल नानपूलाली, प्रियंका श्रीवास बोईदा आदि विगत एक सप्ताह में सर्पदंश बिच्छू के शिकार पाली पीएचसी पहुंचे, जिनका त्वरित इलाज कर प्राण रक्षा की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button