गौ सेवा आयोग के सदस्य बनते ही प्रशांत मिश्रा आए एक्शन मूड में,सरकारी गौठान में दो मवेशियों की मौत मामले पर लिया संज्ञान, पशु चिकित्सा विभाग भी आया हरकत में

गौ- सेवा आयोग के सदस्य बनने के बाद सांसद प्रतिनिधि प्रशांत मिश्रा मिले जवाबदेही को लेकर गंभीर हो गए है और जिले के पशुधन विकास, संवर्धन व संरक्षण की ओर ध्यान देना प्रारंभ कर दिए है तथा इस दिशा पर उनके एक्शन मूड में आते ही जिले का पशु चिकित्सा विभाग भी अब हरकत में आ गया है। बीते दिनों सरकारी गौठान में 2 मवेशियों की मौत होने की जानकारी गौ- सेवा आयोग के सदस्य प्रशांत मिश्रा को होने पर उन्होंने कलेक्टर श्रीमती रानू साहू को इस विषय पर अवगत कराया साथ ही बीमार पशुओं के इलाज के लिए पशु चिकित्सकों की टीम भेजने के लिए कहा। जिसे कलेक्टर ने तत्काल अमल में लेते हुए पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित किया और चिकित्सा अमला नगर निगम की टीम के साथ गोकुल नगर खरमोरा गौठान पहुंचे जहाँ मवेशियों की सुध लेकर आवश्यक उपचार दिया गया। प्रशांत मिश्रा के निर्देश पर जिला प्रशासन ने पशु विभाग को गौवंश पर विशेष नजर रखने निर्देशित किया गया हैं।

ज्ञात हो कि गौधन न्याय योजना भूपेश सरकार की महत्त्वपूर्ण योजनाओं में से एक है जहां गोवंश के संरक्षण, संवर्धन को लेकर सुव्यवस्थित गौठान निर्माण के साथ रोका- छेंका अभियान चलाकर सड़कों पर विचरण करने वाले मवेशियों को सीधे गौठान पर रखने की व्यवस्था बनाने के अलावा 2 रुपए प्रतिकिलो में गोबर खरीदी कर गौपालकों की आमदनी में वृद्धि कर रही है। गौठान में रखे जाने वाले मवेशियों को आहार और अन्य मामले में परेशानी ना होने पाए इसके लिए कई तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन कुछ गौशालों में अनदेखी के कारण अव्यवस्था का आलम है। कोरबा नगर के अंतर्गत खरमोरा गोकुल नगर में संचालित किए जा रहे गौठान में भी चिकित्सीय अनदेखी के कारण काफी संख्या में मवेशियों खुरहा नामक बीमारी के चपेट में आ गए है जिससे उन्हें चलने- फिरने में दिक्कतें हो रही हैं। इसी फेर में 2 मवेशियों की बीते दिनों मौत भी हो गई। घटनाक्रम को लेकर इस तरह की बातें सामने आई थी कि गौठान में पशु चिकित्सक की ड्यूटी नहीं लगाई जा रही है इससे मवेशियों के बारे में कोई जानकारी प्रशासन के पास तक नहीं पहुंच पा रही है। दो मवेशियों की मौत और कई मवेशियों के बीमार होने की जानकारी गौ- सेवा आयोग के सदस्य प्रशांत मिश्रा को हुई और उन्होंने मामले को गंभीरता से संज्ञान में लिया तथा इस विषय पर कलेक्टर रानू साहू को अवगत कराया और आखिरकार इसके सकारात्मक परिणाम सामने आए व सुस्त पड़े पशु चिकित्सा विभाग एकाएक सक्रिय हुआ और गोकुल नगर गौठान में चिकित्सक की टीम पहुँचकर बीमार मवेशियों का आवश्यक उपचार करने के साथ सभी मवेशियों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया एवं कई घंटे वहां पर बिताया भी। गौठान के केयरटेकर चेतराम यादव ने बताया कि गौ- सेवा आयोग के सदस्य प्रशांत मिश्रा को दो मवेशी की मौत व अन्य के खुरहा नामक बीमारी से ग्रस्त होने की जानकारी दी गई जिसके बाद ही पशु चिकित्सा विभाग हरकत में आया और गौठान में पहुँचकर मवेशियों की सुध ली गई। चेतराम ने यह भी बताया कि यहां जब से गौठान बना है तब से पशु चिकित्सकों की कभी आमद नही हुई थी लेकिन बीमारी से पीड़ित गौवंश व गौठान व्यवस्था को गौ- सेवा आयोग के सदस्य प्रशांत मिश्रा के संज्ञान में लाते ही एक ही दिन में गौशाला व्यवस्थित हो गया।

*पशुधन का विकास और संवर्धन तथा संरक्षण को कोरबा में सार्थक करना मेरा प्रयास- मिश्रा* कोरबा सांसद प्रतिनिधि एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संयुक्त महासचिव प्रशांत मिश्रा द्वारा गौ- सेवा आयोग के सदस्य नियुक्त होने को लेकर कहना है कि गौ- सेवा सबसे बड़ा पुण्य का कार्य है और इस महत्त्वपूर्ण सेवा कार्य मे मेरी सहभागिता मेरे लिए गौरान्वित वाली बात है। गौ- सेवा आयोग के सदस्य की जो जिम्मेदारी मुझे प्रदेश सरकार ने सौंपी है उसका मैं भलीभांति सफलतापूर्वक निर्वह करूंगा। गौठान में रहने वाले मवेशियों के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दिया जाएगा तथा उनके लिए बेहतर आहार की व्यवस्था के साथ किसी भी प्रकार की समस्या ना हो इस पर भी गंभीरता से संज्ञान लिया जाएगा। गौठानों में रखे गए मवेशियों की मौत तथा बीमारी को लेकर यह बात तो साफ जाहिर हो गया है कि पशु चिकित्सा विभाग द्वारा लापरवाही बरती गई है। यदि अब जिले अंतर्गत किसी भी क्षेत्र के गौठानों में अव्यवस्थता का आलम पाया जाता है व मवेशियों के बीमार ग्रस्त होने की जानकारी मिलती है तो इसकी सूचना उन्हें सीधे तौर पर दी जाए। यथाशीघ्र संज्ञान में लेकर आवश्यक सुधार कराया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button