कलेक्टर श्रीमती साहू ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की ली समीक्षा बैठक, दिए आवश्यक निर्देश


कोरबाः कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान जिला अस्पताल में ओपीडी, ओपीडी के संबंध में जानकारी ली तथा अस्पताल में ओपीडी ओपीडी की प्रगति रिपोर्ट पर खुशी जाहिर की। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने डीएमएफ से नियुक्त डॉक्टरों की पदस्थापना के संबंध में भी जानकारी सी.एम.एच.ओ. डॉ बोडे से ली । कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने कहा कि डी.एम.एफ.से नियुक्त डॉक्टरों का कार्य मूल्यांकन किया जाए और उसके आधार पर ही वेतन दिया जाए। श्रीमती साहू ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से चर्चा के दौरान बताया कि जिला अस्पताल में अच्छे डॉक्टरों के साथ बेहतर सुविधाएं उपलब्ध है। जिला अस्पताल में हो रहे सर्जरी, बर्न केस, की उपलब्धियों का प्रचार प्रसार सोशल मीडिया के माध्यम से होना चाहिए। कलेक्टर श्रीमती साहू ने मितानिन समन्वयको को स्वास्थ्य विभाग की उपलब्धियों एवं सुविधाओं का लोगों तक प्रचार प्रसार करने के लिए निर्देश दिए।
श्रीमती साहू ने जिला अस्पताल में चल रहे सर्जरी, प्लास्टिक सर्जरी, की भी जानकारी ली तथा प्रतिदिन होने वाले सर्जरी की रिपोर्ट भेजने के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक के दौरान प्रभारी अपर कलेक्टर श्री कुंदन कुमार, संयुक्त कलेक्टर श्री आशीष देवांगन, सीएमएचओ डाॅ. बी. बी. बोडे, एसडीएम कोरबा श्री सुनील नायक, एसडीएम कटघोरा श्रीमती सूर्यकिरण तिवारी, एसडीएम पोड़ी-उपरोड़ा श्री संजय मरकाम, सिविल सर्जन डाॅ. अरूण तिवारी, हाॅस्पीटल कंसल्टेंट डाॅ. देवेन्द्र गुर्जर, डीपीएम श्री पद्माकर शिंदे सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
कलेक्टर श्रीमती साहू ने सरकारी अस्पतालों में होने वाले प्रसव के संबंध में जानकारी ली, तथा सरकारी अस्पतालों पी.एच.सी. एवं सी.एच.सी. में प्रसव दर बढ़ाने के निर्देश दिए। श्रीमती साहू ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से जिले में जिले के अस्पतालों में मातृत्व मृत्यु दर के संबंध में भी जानकारी ली।सीएमएचओ बी.बी बोड़े ने बताया कि कोविड-19 के बावजूद जिले में पिछले लगभग 2 वर्षों में मातृत्व मृत्यु की संख्या 15 है। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने जिले के दुर्गम वनांचलों में स्थित प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में एक्स-रे, पैथोलॉजी, सोनोग्राफी, ब्लड टेस्ट, फिजियोथैरेपी जैसी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए जरूरी व्यवस्थाएं कर विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। जिला अस्पताल में संलग्न जटगा, पसान आदि दुर्गम क्षेत्रों के लैब टेक्नीशियनो को कार्यमुक्त कर वापस अपने कार्य क्षेत्र में पदस्थ करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्रीमती रानू साहू ने पताढ़ी, पाली के सी.एच. सी. तथा कुदमुरा, श्यांग, पसान जटगा आदि के पीएचसी में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। और स्वास्थ्य क्षेत्र में बेहतर उपलब्धियों के साथ कार्य करने के लिए जिले के उपस्थित सभी डाक्टरों, मितानिन समन्वयकों, जिला चिकित्सा प्रबंधक को प्रोत्साहित किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button