CGP NEWS बेलारूस की राजधानी मिंस्क की सड़कों पर सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों ने एक बड़ी रैली निकाली है. शहर में मौजूद संवाददाताओं का कहना है कि दसियों हज़ार लोग मिंस्क के सेंट्रल स्क्वेयर पर जुटे हुए हैं. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि राष्ट्रपति एलेक्ज़ेंडर लुकाशेंको ने चुनाव में धोखाधड़ी की है. वो उनके इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं.दूसरी ओर राष्ट्रपति लुकाशेंको इस विरोध को किसी भी तरह से दबा देने चाहते हैं. उन्होंने इन विरोध-प्रदर्शनों के लिए ‘बाहर से समर्थित गुमनाम क्रांतिकारियों को ज़िम्मेदार ठहराया है. चुनाव के बाद से बेलारूस में प्रदर्शन जारी है. हाल के प्रदर्शनों के ऊपर पुलिसिया कार्रवाई में कम से कम चार लोगों की जान भी जा चुकी है. प्रदर्शनकारियों का कहना है कि उन्हें जेल में प्रताड़ित किया गया है.रविवार को इंडिपेंडेस स्क्वेयर पर बच्चों से लेकर बुज़ुर्ग तक दसियों हज़ार लोग इकट्टा हुए. कई प्रदर्शनकारियों ने लाल और सफ़ेद रंग का विपक्षी झंडा ले रखा था और साथ में आज़ादी के समर्थन और सरकार के विरोध में नारे लगा रहे थे. विपक्ष को समर्थन दे रहा मीडिया ने रैली में जुटी भीड़ में एक लाख लोगों के शामिल होने की बात कही है तो वहीं सरकारी टीवी ने इसे महज 20 हज़ार की भीड़ बताया है.बेलारूस में 9 अगस्त को चुनाव हुए थे. आधिकारिक नतीजों के मुताबिक़ इस चुनाव में राष्ट्रपति लुकाशेंको को 80 फ़ीसद और विपक्षी नेता स्वेतलाना तिख़ानोव्सक्या को 10 फ़ीसद वोट मिले. लुकाशेंको 26 साल से बेलारूस की सत्ता पर जमे हुए हैं. इस चुनाव में कोई स्वतंत्र पर्यवेक्षक नहीं था. विपक्ष का आरोप है कि चुनाव में बड़े पैमाने पर धांधली हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here