CGP NEWS यह सनसनीखेज मामला बिहार के वैशाली जिले का है. दरअसल, वैशाली जिले के रहिमापुर में बीते 22 अगस्त को बाकरपुर के रहने वाले पिता ने अपनी बेटी के अपहरण की एफआईआर दर्ज करवाई थी. अगले दिन एक लड़की का शव बरामद हुआ, जिसमें रेप के बाद हत्या की आशंका थी. शव की पहचान मिटाने के लिए शव को तेजाब से जलाया गया था. शव के मिलने के बाद पुलिस, हत्या की एफआईआर दर्ज कर हत्यारे की तलाश में जुट गई थी. लेकिन इस मामले में जिस मेनका के शव को बरामद कर पुलिस अपहरण और हत्या की तफ्तीश में थी, उसने एक वीडियो जारी कर खुद के जिंदा होने की बात कही है. पुलिस ने जिस मेनका का पोस्टमॉर्टम करवाकर हत्या की एफआईआर दर्ज की थी, उसका परिवार वालों ने अंतिम संस्कार भी कर दिया था. वो लड़की अब 10 दिन बाद सामने आई है. वीडियो में लड़की मेनका ने साफ किया कि उसने अपनी मर्जी से घर से भागकर शादी कर ली है और उसके पिता और घर वालों ने झूठा केस बनाने के लिए हत्या का मामला बनाया है. लड़की ने वीडियो में बताया कि उसने अपने घर वालों को भी फोन कर बताया कि मैं जिंदा हूं लेकिन उन लोगों ने केस कर दिया और मेरा अंतिम संस्कार भी कर दिया. अब मृतक लड़की के सामने आने और उसकी सफाई देने के बाद पुलिस एक बार फिर उलझ गई है. लड़की का न केवल अपहरण का मामला दर्ज कराया गया था. बल्कि एक लड़की का शव भी बरामद हुआ था. पुलिस अब तक उस शव को मेनका का शव मानकर ही जांच में जुटी थी. पुलिस अब पूरे मामले की शुरुआत से नए सिरे से जांच कर सच्चाई सामने लाने में जुट गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here