शहर में कोचिंग संस्थानों, व्यापारियों, डॉक्टरों, बिल्डरों से रंगदारी मांगने की घटनाएं अक्सर सामने आती हैं। खासतौर से विवि क्षेत्र और आसपास के इलाकों में रंगदारी मांगने के सबसे ज्यादा मामले सामने आते हैं। कर्नलगंज, जार्जटाउन, शिवकुटी में पिछले दिनों ऐसे कई मामलों में एफआईआर भी हुुई। मामले भले ही अज्ञात में दर्ज हों लेकिन, ज्यादातर में दबंग छात्रनेताओं का ही नाम सामने आता है।
महंगे शौक पूरे करने के लिए छात्रनेता और उनके गुर्गे अवैध वसूली करते हैं। इनमें से कुछ लोग ही ऐसे होते हैं जो पुलिस से शिकायत करते हैं वरना ज्यादातर इनके खौफ के चलते चुपचाप रकम दे देते हैं। बृहस्पतिवार को डायमंड जुबली हॉस्टल में छापेमारी के दौरान पुलिस के हाथ कुछ ऐसे कागजात मिले, जिससे साफ हो गया कि रंगदारी वसूलने का यह खेल हॉस्टलों से खेला जा रहा है। यहां तलाशी के दौरान कमरा नंबर 64 में दो गड्डियों में 100 से ज्यादा रसीदें मिलीं। दोनों में कुल 33 रसीदें कटी मिलीं जिनमें अलग-अलग राशि दर्ज थी। यह राशि पांच हजार से शुरू होकर 21 हजार तक की थी।

Download Amar Ujala App for Breaking News in Hindi & Live Updates. https://www.amarujala.com/channels/downloads?tm_source=text_share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here