कटघोरा: खाद्य आयोग के पूर्व अध्यक्ष व भाजपा नेता ज्योतिनंद दुबे पहुंचे अधिवक्ताओं के धरना स्थल.. कहा 26 जनवरी नही 1 नवंबर को हो जिले का एलान.

गुरबक्श सिंह संधु

Spread the love

 

कटघोरा 1सितंबर 2021 :अनुविभाग को जिले का दर्जा दिए जाने की मांग लगातार मजबूत होती जा रही है. अलग-अलग सामाजिक संगठनों, संघ और समितियों के समर्थन के बाद आज प्रदेश की मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के नेता व खाद्य आयोग के पूर्व अध्यक्ष ज्योतिनंद दुबे भी अन्य भाजपा नेताओं के साथ छिर्रा के व्यवहार न्यायालय स्थित अधिवक्ताओं के धरना स्थल पहुँचे और कटघोरा को जिला बनाये जाने की मांग को अपना नैतिक, औपचारिक समर्थन दिया. उन्होंने सरकार से इस बारे में मांग किया है कि सभी का प्रयास है कि आने वाले गणतंत्र दिवस तक कटघोरा को जिला बनाये जाने का एलान किया जाए लेकिन वे चाहते है कि छत्तीसगढ़ गठन दिवस यानी एक नवंबर को ही सरकार यह ऐतिहासिक घोषणा कर दें.

 

 

ज्योतिनंद दुबे ने कहा कि भाजपा के शासनकाल में उनकी कोशिश जब अंतिम दौर पर थी इसी दौरान दुर्भाग्य से नेतृत्व परिवर्तन हो गया और कटघोरा को जिले का दर्जा नही मिल पाया लेकिन अब जब पार्षद से लेकर विधायक और सांसद भी एक ही दल के है लिहाजा इस मांग को पूरा होने में ज्यादा समय नही लगना चाहिए. क्षेत्रीय विधायक ने भी विजयी होने पर इस मांग को पूरा करने की बात कही थी अतः कटघोरा को जिले का दर्जा देकर क्षेत्रवासियों और मतदाताओं के भावनाओ का सम्मान हो.

 

उन्होंने कहा कि कटघोरा ऐतिहासिक तहसील है लेकिन आज यहां के लोगो को अपने हर कार्य के लिए कोरबा जिले की दौड़ लगानी पड़ती है. कटघोरा का भौगोलिक विस्तार इतना अधिक है कि जिला मुख्यालय से यह दूरी सौ किलोमीटर से भी ज्यादा है ऐसे में ग्रामीणजनों को होने वाली समस्याओं को समझा जा सकता है. जनमानस के इन्ही परेशानियों को महसूस करते हुए क्षेत्रीय सांसद ज्योत्सना महंत, कटघोरा विधायक पुरषोत्तम कँवर व पाली-तानाखार के विधायक मोहितराम केरकेट्टा तत्काल इस ओर पहल करें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button