बिट्टू सिंह ने झूठे तथ्यों को सोशल मीडिया के माध्यम से दिखाया, एस०पी० से हुई शिकायत, कार्यवाही की मांग

Spread the love

सूरजपुर, भारत सम्मान – एक दूषित मछली पूरे तालाब को गंदा कर देती है, इस तरह के कहावत आपने सुने होंगे। पत्रकार एक बुद्धिजीवी वर्ग कहलाता है पर हर वर्ग में कुछ ऐसे लोग रहते हैं जिसके वजह से पूरा वर्ग बदनाम होता है। जिसके उदाहरण के रूप में बिट्टू सिंह निजी वैयन्यस्ता के कारण पत्रकार सूर्यनारायण के विरुद्ध अक्सर झूठे तथ्यों को सोशल मीडिया के माध्यम से दिखाता है, बिट्टू सिंह राजपूत वेब मीडिया हिंदुस्तान पथ का स्वामी है जो कि जिला सूरजपुर से प्रसारित होता है।

बिट्टू भी पत्रकार है इसलिए सूर्यनारयण के काबिलियत को नीचा दिखाने अक्सर ऐसा घटिया षड्यंत्र करता रहता है, इसके द्वारा दिनांक 24/09/2021 व 25/09/2021 को सोशल मीडिया फेसबुक पर पत्रकार सूर्यनारायण के विरुद्ध समाचार के माध्यम से असत्य बातें लिखते हुए पत्रकार सूर्य नारायण का वास्तविक फोटो डाल देता है। इतना ही नहीं एक तरफ पूरा देश वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रहा था दूसरी तरफ षड्यंत्रकारी बिट्टू तत्कालीन सूरजपुर एस०पी० को झूठी शिकायत करते हुए सूर्यनारायण के विरुद्ध 08/05/2020 को एक घरेलू कार्यक्रम में महामारी अधिनियम का उल्लंघन करना बताया, पूर्ण जांच के पश्चात थाना प्रभारी भटगांव द्वारा किसी भी अधिनियम का उल्लंघन न करना पाया गया। इस तरह बिट्टू द्वारा पुलिस व सूर्यनारायण के कीमती समय को नष्ट करवाते हुए पत्रकार के घरेलू कार्यक्रम को विफल कराने के लिए सफल प्रयास किया गया।

सूरजपुर पुलिस अधीक्षक के पास लिखित शिकायत में पत्रकार ने बताया कि मेरा नाम सूरज मंडल नहीं सूर्यनारायण है। बिट्टू से मेरे निवास स्थान के महज कुछ दूरी में ही रहता है यह जानते हुए भी मेरे वास्तविक फोटो को इस्तेमाल कर मेरे बारे में झूठी अफवाहें फैलाई गई। बिट्टू तुच्छ मानसिकता वाला है, इसको कई भ्रष्ट अधिकारियों का संरक्षण भी प्राप्त है। ऐसे लोगों का बिट्टू चरण-चाटन करते हुए अपना जीवनयापन करता है। जिस घटना में पत्रकार सूर्यनारायण का नाम शामिल किया जा रहा है, उस घटना की पुष्टि पत्रकार नहीं करता है, यदि ऐसी घटना वास्तव में घटी है, तो दोषियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। साथ ही भ्रामक जानकारी फैलाने वाले बिट्टू सिंह राजपूत व अन्य के खिलाफ भी कार्यवाही होनी चाहिए। जिससे पत्रकारों की मान प्रतिष्ठा बची रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button