शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय उतरदा में हाथ धुलाई एवं नो टू प्लास्टिक बैग कार्यक्रम का किया गया आयोजन

Spread the love


कोरबा -: शिक्षा गुणवत्ता अभियान एवं एन ए एस कार्यक्रम के तहत विद्यालयों का निरीक्षण तथा शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय उतरदा में हाथ धुलाई कार्यक्रम एवं से नो टू प्लास्टिक बैग कार्यक्रम का आयोजन हुआ। जिसमें डाईट कोरबा से व्याख्याता गौरव शर्मा एवं विद्यालय के समस्त व्याख्यातागण एवं कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम में व्याख्याता राकेश टंडन ने पॉलीथिन एवं पॉलीथिन के माइक्रो पॉलिथीन में चेंज होने की प्रक्रिया को बताते हुए कहा कि यह हमारे जीवन के लिए कितना नुकसान दायक है साथ फसलों के लिए भी यह नुकसानदायक है। यह हमारे फूड चैन में प्रवेश कर प्रकृति को नुकसान पहुंचाती है । डाइट कोरबा के व्याख्याता एवं राज्यपाल पुरस्कृत शिक्षक गौरव शर्मा ने बताया कि किस तरह प्लास्टिक के उपयोग से कैंसर से संबंधित समस्या होती है तथा बच्चों से आग्रह किया कि वे प्लास्टिक बैग एवं प्लास्टिक से संबंधित अन्य सामग्रियों का उपयोग के लिए नहीं बोले । उपयोग ना करें शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय उतरदा के व्याख्याता सुधीर कुमार चंद्रा ने हाथ धुलाई के विभिन्न तरीकों को बताते हुए बच्चों को स्वच्छता से संबंधित जानकारी प्रदान किया। व्याख्याता पी पी अंचल प्लास्टिक के उपयोग ना करने संबंधित दोहा का पाठ किया । प्रभारी प्राचार्य जी पी लहरे ने विद्यार्थियों से आग्रह किया कि वे स्वच्छता बनाए रखें तथा कम से कम पॉलिथीन का उपयोग करें । बाजारों में कपड़ा या जूट का थैला लेकर जाएं । हेल्थ केयर के छात्र छात्राओं ने चिकित्सालय में किस तरह से पेशेंट का बेड बनाया जाता है तथा हार्ट अटैक होने पर किस तरह से प्राथमिक उपचार किया जाता है । इसके बारे में डेमो करके जानकारी बताया । स्मार्ट क्लास, केमिस्ट्री लैब, भौतिक शास्त्र लैब, बायोलॉजी लैब, पुस्तकालय, आईटी लैब , भाषा प्रयोगशाला कक्ष , सहेली कक्ष, शिक्षक रूम , प्राचार्य कक्ष, सहायता केंद्र , पत्रकारिता ,कॉर्नर का निरीक्षण किया गया , ऑक्सी जोन , प्राथमिक शाला उतरदा, प्राथमिक शाला रेलडबरी ,माध्यमिक शाला उतरदा, माध्यमिक शाला रेलडबरी का निरीक्षण कर एन ए एस के बारे में जानकारी प्रदान किया गया तथा विद्यार्थियों से वार्तालाप कर उनके अधिगम स्तर का अवलोकन किया गया । विद्यार्थियों तथा शिक्षक शिक्षिकाओं को शिक्षक गुणवत्ता विकास के लिए प्रेरित किया गया। शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय को और कैसे उन्नत बनाएं इसके लिए श्री गौरव शर्मा जी द्वारा सुझाव भी दिया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button